11days Apsara Siddhi | Narayan Dutt Shrimali

11days Apsara Siddhi - Narayan Dutt Shrimali

📅 Sep 13th, 2021

By Vishesh Narayan

Summary 11days Apsara Siddhi is an 11-day sadhana by which any sadhak can manifest the Apsara. The sadhana is revealed by Gurudev Narayan Dutt Shrimali. The sadhana also highlights the rules of sadhana and the experiences that the sadhak may feel in the sadhana.


11days Apsara Siddhi is an 11-day sadhana by which any sadhak can manifest the Apsara. The sadhana is revealed by Gurudev Narayan Dutt Shrimali.

Apsaras are beautiful, supernatural female beings. They are youthful and elegant, and superb in the art of dancing. There are many beautiful apsaras in the court of Lord Indra.

Apsara means the finest or one who is composed of the finest and highest qualities. Apsara is one of the beautiful & seductive entities in the court of the King of Gods, Indra.

Apsaras eventually dances to the music made by the Gandharvas, usually in the palaces of the gods, to entertain and sometimes to seduce gods and men.

अप्सरा को सिद्ध करना कोई आसान कार्य नहीं है | मगर अप्सरा को सिद्ध करना भी बहुत आसान है | अप्सरा का अर्थ होता है कि सोलह वर्ष की चिर यौवन वती और वो निरंतर आपके सामने प्रत्यक्ष हो |

और निरंतर जो भी आप उसे आज्ञा देंगे वो उस आज्ञा का भी पालन करेगी, सिर्फ पांच वर्षों तक | उसके बाद में इस मंत्र को वापिस सिद्ध करना पड़ेगा |अप्सरा को बुलाने के लिए 1 माला मंत्र जाप करने की जरूरत है |

Rules 11days Apsara Siddhi

अप्सरा साधना के नियम

  • कोई भी वस्त्र डाल कर अप्सरा साधना कर सकते हैं | जरूरी नहीं है कि आप धोती और कुर्ता ही पहने |
  • अप्सरा साधना में आप किसी भी प्रकार के वस्त्र पहन सकते हैं | वस्त्र शुध्द और दिव्य हों |पहनें हुए वस्त्र दुबारा नहीं पहन सकते |
  • गुलाब के पुष्प सामने रखेंगे | 11 पुष्प |
  • यह रात्रि कालीन साधना है |
  • कमरे में दूसरे का प्रवेश वर्जित है |
  • यह साधना रेगुलर है | यह 11 दिन की साधना है और 11 माला मंत्र जप करना है |
  • यह स्फटिक माला से मंत्र का जाप करना है और माला को गले में धारण किए रहेंगे |
  • आप जो भी चाहें भोजन कर सकते हैं | मीट और मांस नहीं करेंगे |
  • रात्रि का मतलब है 9 बजे से 5 बजे तक |
  • शुक्रवार को प्रारंभ करें तो ज्यादा अच्छा रहेगा |
  • और ये आपको ११ माला करनी है |
  • और ११ दिनों तक या १५ दिनों तक करनी है |

Experiences of Apsara Sadhna

अप्सरा साधना के अनुभव

  • इस बीच में आपको आवाजें आ सकती है | आप इस मंत्र का दुरूपयोग नहीं करेंगे |
  • इस साधना को दूसरों को बताने की आवश्यकता नहीं है | गुरु के अलावा किसी को नहीं बता सकते हैं |
  • कई बार 11 दिन में सफलता नहीं मिलती है तो 15 दिन तक करना पड़ेगा |
  • गुलाब का इत्र अपने वस्त्रों पर या कानों पर लगा होना चाहिए |
  • और पूरी क्षमता के साथ इस मंत्र को जो में बोल रहा हूँ शक्तिपात रूप से इसको ग्रहण करेंगे |
  • क्षमता का अर्थ है पूर्ण भावनात्मक विश्वास से | अपने कपडों पर या शरीर पर इत्र लगा लें |
  • चाहे तो गुलाब की माला पहन लें | इसमें किसी भी प्रकार के वस्त्र पहन सकते हैं |
  • और रेगुलर करनी है शुक्रवार से प्रारंभ करनी है और रात्रि को करनी है |
  • और रेगुलर करनी है शुक्रवार से प्रारंभ करनी है और रात्रि को करनी है |
  • और कई गृहस्थ साधकों ने अप्सरा को सिद्ध किया है |
  • यह गोपनीय है तो आप तक ही सीमित रहेगी ये बात | इसको आप उजागर नहीं कर पायंगे |
  • ज्यों ही आपने उजागर किया साधना आपकी निष्फल हो जाएगी | समाप्त हो जाएगी|
  • यह एकत्व साधना है | यह एक शक्तिपात मंत्र है |

Apsara Mantra

ॐ ह्रीं ऐं अप्सरा प्रत्यक्ष आगच्छ आगच्छ ह्रीं ऐं नमः |

Om Hreem Aing Apsara Pratyaksh Aagach Aagach Hreeng Aing Namah:

Click Here For The Audio of the Mantra

 

Some Interesting Apsara Mantra Links


NewsLetter

New articles, upcoming events, showcase… stay in the loop!