Get Tremendous Energy Mantra | Chetna Mantra

Get Tremendous Energy Mantra - Chetna Mantra

📅 Sep 13th, 2021

By Vishesh Narayan

Summary Get Tremendous Energy Mantra is a Chetna mantra that can regenerate each and every cell of the human body. The Astral body can be replenished with some specialized mantras. One of the best mantras is the mantra given by Narayan Dutt Shrimali.


Get Tremendous Energy Mantra is a Chetna mantra that can regenerate every cell of the human body. Not only the cells, but the mantra can also recharge every nook and corner of the consciousness.

The Astral body is a field of invisible energy between the soul and consciousness. It is a field of energy that is accessible to the spiritual traveler or an expert in sadhana. It is also a field that is vastly influenced by planetary vibrations .

The astral body takes its birth from the astral world and returns itself to that dimension at the time of death. It is also called ‘Pran Atma’ in our Vedic terminology.

Yogis or Brahma Rishis have absolute command over their astral bodies. They can travel to the Astral world in seconds. An out-of-body experience is just an example of this phenomenon.

The astral body leaves the physical body completely at the time of death. A normal person can glimpse the astral body and its functionalities in the dreaming consciousness. The astral body has no boundaries. It can do anything and can go anywhere.

The Astral body can be charged with some specialized mantras. One of the best mantras is the Chetna mantra provided by Gurudev Narayan Dutt Shrimali. The other term of this mantra is the 'negative energy removal mantra'.

Benefits Tremendous Energy Mantra

Regular chanting of the Chetna mantra helps in aligning with the astral body. It also helps to raise the higher consciousness.

The Chetna mantra also helps in activating the chakras of kundalini. A sadhak can attain success in other sadhanas by practicing the Chetna mantra.

चेतना मंत्र जिससे सभी सिद्धियाँ प्राप्त हो सकती हैं | सूक्ष्म शरीर आत्मा और चेतना के बीच अदृश्य ऊर्जा का एक क्षेत्र है। यह ऊर्जा का एक ऐसा क्षेत्र है जो आध्यात्मिक यात्री या साधना के विशेषज्ञ के लिए सुलभ है।

यह वह क्षेत्र भी है जो ग्रहों के कंपन से प्रभावित होता है। सूक्ष्म शरीर सूक्ष्म जगत से अपना जन्म लेता है और मृत्यु के समय वापस उसी आयाम में लौट आता है। हमारी वैदिक शब्दावली में इसे ‘प्राण आत्म’ भी कहा जाता है।

योगियों या ब्रह्मा ऋषियों का अपने सूक्ष्म शरीर पर पूर्ण अधिकार होता है। वे कुछ हि क्षणों में सूक्ष्म दुनिया की यात्रा कर सकते हैं। ‘शरीर के अनुभव से बाहर’ का अनुभव इस घटना का एक उदाहरण है।

सूक्ष्म शरीर मृत्यु के समय भौतिक शरीर को पूरी तरह से छोड़ देता है। एक सामान्य व्यक्ति सपने देखने वाली चेतना में सूक्ष्म शरीर और उसकी कार्य क्षमता को देख सकता है। सूक्ष्म शरीर की कोई सीमा नहीं है। यह कुछ भी कर सकता है और कहीं भी जा सकता है।

सूक्ष्म शरीर को कुछ विशेष मंत्रों के साथ प्राणन्वित किया जा सकता है। सर्वश्रेष्ठ मंत्रों में से एक गुरूदेव नारायण दत्त श्रीमाली द्वारा प्रदान किया गया ‘चेतना मंत्र’ है। चेतना मंत्र का नियमित जाप सूक्ष्म शरीर के साथ सम्बन्ध स्थापित करने में मदद करता है।

यह उच्च श्रेणी की चेतना को बढ़ाने में भी मदद करता है। चेतना मंत्र कुंडलिनी के चक्रों को सक्रिय करने में भी मदद करता है। एक साधक चेतना मंत्र का नियमित अभ्यास करके अन्य साधनाओं में सफलता प्राप्त कर सकती है।

 Chetna Mantra or Negative Energy Removal Mantra in Hindi

ॐ ह्रीं मम प्राण देह रोम प्रतिरोम चैत्तन्य जाग्रय ह्रीं ॐ नमः |
Om Hreem Mam Pran Deh Rom Pratirom Chaitanya Jaagray Hreem om Namah:

Click Here For the Audio of the Chetna Mantra


NewsLetter

New articles, upcoming events, showcase… stay in the loop!